शनिवार, 8 अक्तूबर 2011

iSad

10 टिप्‍पणियां:

  1. जाना तो कभी न कभी सबको है लेकिन स्टीव को अभी नहीं जाना था।
    ...चाहते भी अभी लिख नहीं पा रहा। सम्भवत: कल कुछ लिख पाऊँ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. इसी का नाम जिन्दगी है क्योंकि 'बड़ी मुश्किल से होता है चमन में दीदावर पैदा'स्टीव आपको सलाम,दुनिया को आपने ज्यादा सरल और खुबसूरत बनाया।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बड़ी मुश्किल से होता है चमन में दीदावर पैदा'

    उत्तर देंहटाएं
  4. जाना जॉब्स का, अरसे बाद खला है और उनके जाने से पैदा हुई शून्यता और खलेगी. सच ही कहा गया है--
    'नाभिषेको न संस्कारः सिंहस्य क्रियते वने, विक्रमार्जितसत्वस्य स्वयमेव मृगेंद्रता.

    उत्तर देंहटाएं

कृपया विषय से सम्बन्धित टिप्पणी करें और सभ्याचरण बनाये रखें।
साइट प्रचार के उद्देश्य से की गयी या व्यापार सम्बन्धित सामग्री वाली टिप्पणियाँ स्वत: स्पैम में चली जाती हैं, जिनका उद्धार सम्भव नहीं क्यों कि उनसे दूसरी समस्यायें भी जन्म लेती हैं। अग्रिम धन्यवाद।