रविवार, 4 मार्च 2012

जोगीरा:'परम' श्रेणी परहेज से रहे...बोलs हमरो जिन्दाबाद!...


(1)
के पीये हर घाट के पानी, के बा परम सयानी
केकर चुनरी दागा लागल, के धोयेला पानी

रानी पीये हर घाट के पानी, राजा परम सयानी
पबलिक चुनरी दागा लागल, कोइ न धोये पानी।

वा वा! जोगीरा सर र र र।

(2)

हम बिछवलीं गली गलइचा, आवs राजा जिन्दाबाद
हम लगवलीं बाग बगइचा, चाभs रानी जिन्दाबाद

हम बनववलीं पाल पलंगरी, सूतs बबुना जिन्दाबाद
हम सिरजवलीं रंगी चुनरी, पहिरs बबुनी जिन्दाबाद

पहिले के तरसे फेरसे, खइबे हम सिधरी जिन्दाबाद
काँटा काँटा खून कचरबे, टुटही पनही जिन्दाबाद

कहs जोगीरा सर र र र।


(3)
के आइल हो राज हमारे, मुल्ला राजा जिन्दाबाद
के आइल हो काज हमारे, माया रानी जिन्दाबाद
के आइल हो साज हमारे, कइलड़ पार्टी जिन्दाबाद
के आइल हो साँझ सकारे, करांती पार्टी जिन्दाबाद
के आइल हो जाल हमारे, दूजी तीजी जिन्दाबाद
जियते जियते हम मरि गइलीं, बोलs हमरो जिन्दाबाद।
 जगे जोगीरा सर र र र।


(4)

हमहूँ राजा लोकातन्तर
तूहूँ राजा लोकातन्तर
सबहूँ राजा लोकातंतर।
बड़का सड़का लोकातंतर
घपला तड़का लोकातंतर
मिरिच मसाला लोकातंतर।
रिन्हले खिंचड़ी लोकातन्तर
फेंकलें हड्डी लोकातंतर
चूसs हड्डी लोकातंतर।
टूटलs दँतवा लोकातंतर
लटकल लवड़ा लोकातंतर
लोके भड़वा लोकातंतर।
उतरल चेहरा लोकातंतर
घरेs चलs लोकातंतर
मारs मंतर लोकातंतर।
सुतs रजाई लोकातंतर
कार कमाई लोकातंतर
बड़ी बड़ाई लोकातंतर।
हमहूँ राजा लोकातंतर
तूहूँ राजा लोकातंतर
सबहूँ राजा लोकातंतर।

सर र रs सरकs लोकातंतर
सुते कबीरा लोकातंतर
जगे जोगीरा लोकातंतर।


12 टिप्‍पणियां:

  1. उत्तर
    1. शुभ काम में देरी न कीजिये। आज ऑडियो लगा ही दीजिये। अपने ब्लॉग पर चाहे मुझे भेज कर - कैसे भी। जर जमा 4 दिन बचे हैं होली के।
      का चुप साधि रहा बलवाना?

      हटाएं
  2. अद्भुत, चमत्‍कृत कर देने वाली रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  3. जय हो ...कान पाथ के बैठ गए हैं अब तो जोगीरा सुन के ताल लहका के ही जाएंगे ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. के आइल हो राज हमारे, मुल्ला राजा जिन्दाबाद
    के आइल हो काज हमारे, माया रानी जिन्दाबाद
    के आइल हो साज हमारे, कइलड़ पार्टी जिन्दाबाद
    के आइल हो साँझ सकारे, करांती पार्टी जिन्दाबाद
    के आइल हो जाल हमारे, दूजी तीजी जिन्दाबाद
    जियते जियते हम मरि गइलीं, बोलs हमरो जिन्दाबाद।
    जगे जोगीरा सर र र र।
    -----------

    इसी पर सारा मीडिया मछरमरावन फाने है यार.....एकदम 'चिलम झार' बहस चल रही है कि कउन ससुर आएगा....कउन मेहरारू आयेगी :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. पडी गा* पर लात
    चौचक हौवे लोकातंतर
    जात न पूछे पांत
    चौचक हौवे लोकातंतर

    उत्तर देंहटाएं

कृपया विषय से सम्बन्धित टिप्पणी करें और सभ्याचरण बनाये रखें।
साइट प्रचार के उद्देश्य से की गयी या व्यापार सम्बन्धित सामग्री वाली टिप्पणियाँ स्वत: स्पैम में चली जाती हैं, जिनका उद्धार सम्भव नहीं क्यों कि उनसे दूसरी समस्यायें भी जन्म लेती हैं। अग्रिम धन्यवाद।