शनिवार, 7 अप्रैल 2012

बूँद भर



माँगने गये थे उससे तुम्हें
लौट आये जो भीड़ मंगतों की दिखी
और माँग बैठे उसे तुमसे सनम
हाय! क्या कर बैठे?
जाने क्या कर बैठे?   


6 टिप्‍पणियां:

कृपया विषय से सम्बन्धित टिप्पणी करें और सभ्याचरण बनाये रखें।
साइट प्रचार के उद्देश्य से की गयी या व्यापार सम्बन्धित सामग्री वाली टिप्पणियाँ स्वत: स्पैम में चली जाती हैं, जिनका उद्धार सम्भव नहीं क्यों कि उनसे दूसरी समस्यायें भी जन्म लेती हैं। अग्रिम धन्यवाद।