मंगलवार, 26 मार्च 2013

2013 होली : संक्षिप्त

हाथ गोड़ बचा के रंग खेलिये। भाँग में सुरा मिला कर पीजिये 'मत', अलग अलग के लिये डॉक्टर से सलाह लीजिये। होठों का रस पीने पिलाने के लिये स्वयं को तैयार रखिये, जाने कब मौका हाथ लग जाये!
किसी को भींचने के अरमान हों तो जकड़ लीजिये लेकिन मौके का ध्यान रखते हुये! ध्यान रहे कि न खुद के मुँह कालिख लगे और न उनके।

होठों से होठ रगड़ दिये, अंगुलियाँ फिसलीं बहकीं
छलक गईं गोलाइयाँ, मसलन गालों पर दहकी।

काम ऐसे करिये कि आगे वर्षों तक आप दोनों चिपटा चिपटी, पटका पटकी, गटका गटकी, रगड़ा रगड़ी इत्यादि आदि को याद कर अकेले में मुस्कुरा सकें; कोई भी मौसम हो, फगुनिया सकें और देह में सनसनी उठा सकें (सनसनी का अर्थ उस दरद से नहीं है जो लाता मुक्की के दौरान बने भितरघावों में पुरुवा बहने पर उमगता है, खास यादों पर कसमसाने मचलने वाले खास अंगों की सनसनी से है)।

आप सब को रंगपर्व की अम्बर, दिगम्बर, अधनंग, नंग, अनंग, रंगारंग, हुड़दंग शुभकामनायें।

ब्लॉग जगत में मेरे होली हुल्लड़ खास कहे जाते रहे, इस बार व्यक्तिगत व्यस्तताओं के कारण बस ऐंवे ही होली बीतेगी... बीते वर्षों का माल भी ठीके ठाक है। आनन्द लीजिये:

होलियान

11 टिप्‍पणियां:

  1. 1 लीटर कोकाकोला बनाने के लिए 55 लीटर पानी बर्बाद है
    1 किलो गौमांस बनाने के लिए 15000 लीटर पानी बर्बाद होता है

    jai baba banaras...

    उत्तर देंहटाएं
  2. @आप सब को रंगपर्व की अम्बर, दिगम्बर, अधनंग, नंग, अनंग, रंगारंग, हुड़दंग शुभकामनायें।

    aacharya aap ko annant 'uprokt' subhkamnayen........

    holinam.

    उत्तर देंहटाएं
  3. ठहर-ठहर के भकभकाती आग ही सनसनी बना रही है! होली रंगारंग रहे! शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  4. ब्लॉग बुलेटिन की पूरी टीम की ओर से आप सब को सपरिवार होली ही हार्दिक शुभकामनाएँ !

    आज की ब्लॉग बुलेटिन हैप्पी होली - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  5. रह जाये कोई टीस न बाक़ी,
    रह जाये कोई पीस न बाक़ी,
    झूम मचाना, पूरा लूटो,
    रहे कोई आशीष न बाक़ी।

    उत्तर देंहटाएं
  6. आशा है व्यस्ततायें निरापद टाईप की ही होंगी।
    हमारी तरफ़ से भी ............... शुभकामनायें :)

    उत्तर देंहटाएं
  7. रंगपर्व की शुभकामनाएँ.
    लाल फूलों का चित्र मनोहारी है.

    उत्तर देंहटाएं

कृपया विषय से सम्बन्धित टिप्पणी करें और सभ्याचरण बनाये रखें।
साइट प्रचार के उद्देश्य से की गयी या व्यापार सम्बन्धित सामग्री वाली टिप्पणियाँ स्वत: स्पैम में चली जाती हैं, जिनका उद्धार सम्भव नहीं क्यों कि उनसे दूसरी समस्यायें भी जन्म लेती हैं। अग्रिम धन्यवाद।