शुक्रवार, 22 नवंबर 2013

ऋषिकेश, गंगा और सूर्यास्त

2013-11-21-1322
2013-11-21-1323
2013-11-21-1326
2013-11-21-1327
2013-11-21-1330
2013-11-21-1332
2013-11-21-1334
… और 'मैं' अस्त हुआ।

6 टिप्‍पणियां:

  1. उत्तर
    1. नहीं .... कुछ लिखना बिलकुल बन्द हो जाएगा ..:-(

      मैं अस्त हुआ सिर्फ़ आज
      कल फ़िर आने के लिए
      नई सुबह ,नई रोशनी
      तुम्हारे लिए फ़िर लाने के लिए....

      हटाएं
  2. पानी में घुलती सूरज की लालिमा...अस्त होते सूर्य का भी उतना ही सुन्दर दृश्य है जितना उगते सूरज का होता है !
    सुन्दर चित्र,

    उत्तर देंहटाएं
  3. रंगों में दिखता प्रकृति का सौन्दर्य..

    उत्तर देंहटाएं

कृपया विषय से सम्बन्धित टिप्पणी करें और सभ्याचरण बनाये रखें।
साइट प्रचार के उद्देश्य से की गयी या व्यापार सम्बन्धित सामग्री वाली टिप्पणियाँ स्वत: स्पैम में चली जाती हैं, जिनका उद्धार सम्भव नहीं क्यों कि उनसे दूसरी समस्यायें भी जन्म लेती हैं। अग्रिम धन्यवाद।