बुधवार, 14 अक्तूबर 2009

पहेली - दु:ख को भगाने के लिए चैट ...


रात बेचैनी थी। कुछ था जो मन से जा नहीं रहा था। मन कह रहा था बेकार टेंसन ले रहे हो। दु:ख को भगाने के लिए ब्लॉगर वरिष्ठों को पकड़ कर चैट शुरू की। मौज आया सो यहाँ चिपका रहा हूँ। आप लोग अनुमान लगाइए कि ये महारथी कौन लोग हो सकते हैं। एक के साथ की गई चैट तो चिपका भी नहीं रहा। आप लोग लिंक वगैरा ढूढ़ ढाढ़ कर उनका भी नाम पता लगाइए। 
कुल पाँच ब्लॉगरों का पता लगाना है। विजेताओं के पुरस्कार नीचे बताए गए हैं। ...न न  नहीं! अभी मत जाइए। पहले पढ़ तो लीजिए।
_________________________________
(1)         me:नमस्कार, सोने का समय हो गया।
दीवाली सफाई कर रहा हूँ
 'क':  to so jaayiye
 Sent at 10:27 PM on Tuesday
 me:  ई कुवन बात हुई। किसी से दुखड़ा रोवो तो पब्लिक उसी में अउर ढकेलती है।
 'क':  dukhda tha yah?
 me:  अउर क्या? न देख पा रहे और न लिख पा रहे।
 'क':  oh ! main kya kar saktaa hoon?
 Sent at 10:30 PM on Tuesday
 me:  कुछ नहीं बस सुन लीजिए, हमें सिखाया जाता है कि सुनना बड़ी बात है। मतलब बड़ा गुन है।  एकेदमी में रचना भेज दीजिए। रचना से याद आया - रचना जी की रचना आ रही है कि नहीं?
 'क':  apne gurubhai se poonchhiye mujhe nahee pata ...
कॉपी करते गलती से लिंक कट गई। महोदय ऑफलाइन हो चुके थे, सो अधूरा ही रह गया।
_____________________________________________________
(2) 'ख'      dekha apna comment
khoob kahi likhiye paisa milega
Sent at 10:56 PM on Tuesday
 me:  किसका?  कहाँ। ऊ तो कोई गिरजेश था, मैं नहीं। ही ही ही... गिरजेश बौत हैं, गिरिजेश वह भी राव नखलौ में एक ही है। Sent at 10:57 PM on Tuesday
'ख'      maaf kijiyega lagata to nahi kabhi kabhi aap thodi lete honge he he he
Sent at 10:58 PM on Tuesday    
me:  भाई जी, गिरजेश, गृजेश, ग्रिजेश वगैरह निरर्थक नाम हैं। माबदौलत संस्कृत की कृपा से निरर्थक नहीं - इसीलिए गिरिजेश है। - गिरिजा+ईश।
Sent at 11:01 PM on Tuesday
 me:  सब चुप खामोश हैं। मन की बकवास ससुरी बौत प्रबल है। ...ले लोटा
Sent at 11:02 PM on Tuesday
'ख"     achch ab samjha ee gir kya hamare sathi se . ,aine bhi dyan nahi diya deshaj me to chlta hai . maine sathi ko tight kar diya hai ki party naraz ho gai tumhari bewkufi se :)
Sent at 11:04 PM on Tuesday
 me:  एक ठो कवितानुमा टिप्पणी पोस्ट लिखे हैं, देख लीजिए:http://kavita-vihangam.blogspot.com/2009/10/blog-post_13.html
'ख': ok
Sent at 11:06 PM on Tuesday
'ख'     kavita raat me dekhenge khoob kahi likhiye aap me jhas hai
 me:  रात? ई का दिन के बेरा है?
Sent at 11:11 PM on Tuesday
'ख'      arre office me blog nahin khulta. raat matlab office ke baad
Sent at 11:13 PM on Tuesday
 me:  रात की ये परिभाषा अगर कालिदास या भारवी की आत्माएँ सुन लें तो जागरण चौराहे पर अवतरित हो जाँय। ...बहुत ही अकाव्यमय पुरुख हैं आप ! इसीलिए लिफ्ट नहीं मिली।
Sent at 11:14 PM on Tuesday
'ख'     naukari jo na karaye .koi doosari dila dijiye . :0 kavita likhne lagoonga
Sent at 11:16 PM on Tuesday
me:  अब तो अदनान सामी आप को लिफ्ट कराएँगे। वहीं कालिदास की किसी अप्सरा को चुन लीजिएगा। मैं सोच रहा हूँ कि चैट को भी ब्लॉग पोस्ट बना दिया जाए। आप की सहमति है?
Sent at 11:17 PM on Tuesday
'ख'      jo man me aye kariye
 me:  आपो नाराज हो गए। आज रात 3 को नाराज कर चुका हूँ।
Sent at 11:20 PM on Tuesday
'ख'      aap bhi lagata hai hostel me nahi rahe guddu samaj rakha hai kya jo lanth ki baat ko seriously lene laga. so jaiye nahi to raat me bhoot dikhenge
Sent at 11:22 PM on Tuesday
me:  पेंचकस से लैप टॉप खोल उसे विकलांग बना चुका हूँ। अब सोच रिया हूँ कि कल IBM वाले को क्या फंडा दूँ? हाई फाई कि वह नाच जाए।
Sent at 11:24 PM on Tuesday
'ख'      ha ha aap bhi hamre yaha ke computer msitri jaise hi hain:)
Sent at 11:25 PM on Tuesday
_________________________________________________
(3)     me:  एक ठो कवितानुमा टिप्पणी पोस्ट लिखे हैं, देख लीजिए:http://kavita-vihangam.blogspot.com/2009/10/blog-post_13.html  इसे कहते हैं आ बैल मुझे मार। एक नहीं दो दो ..खूँखार बाउ के बैलों जैसे? न उनमें एक तो सीधा था।
'ग'      जी जरूर अभी देखता हूं
Sent at 11:32 PM on Tuesday
'ग      क्या आपके यहां ब्लोगवाणी खुल रहा है
Sent at 11:34 PM on Tuesday
me:  नहीं। अमाँ इत्ती रात गए वो लोग अपनी अपनी वाणी के साथ होंगे। दुकान पर ताला लगा होगा। आप भी न !
'ग'     हा....हा...हा..ये बात है क
Sent at 11:36 PM on Tuesday
'ग' : चर्चा देखिये
----------------
------------------------
Sent at 11:59 PM on Tuesday
_______________________________________________________ 
(4) 'घ': ________'s new status message - Overqualified? [इसीलिए कहा गया है बाली उमर में बड़े काम नहीं करने चाहिए :)]http://news.efinancialcareers.co.uk/newsandviews_item/newsItemId-21777?efc_eu=2949&om_rid=DTyRz0&om_mid=_BK1JFwB7biBog$&   10:23 PM
me:  छ: महीने रात में भैस की दही से भात खाया करो। सब ठीक हो जाएगा। पुरनियों का आजमाया नुस्खा है।
'घ'     :)
Sent at 10:25 PM on Tuesday
me:  गरम पकौड़ी, खजोहरा - निराला की कविताएँ, पढ़े हैं?
Sent at 11:16 PM on Tuesday
'घ'      Nahin !
me:  पढ़ लीजिएगा। सौन्दर्य का अनर्थ शास्त्र है। शुभ रात्रि
'घ'      ji bilkul
shubh ratri
Sent at 12:11 AM on Wednesday
_______________________________
(5)  'ङ' : ङ  के साथ पूर्वानुमति लेकर मात्र पांच लाइनें बात हुई, हालाँकि अनुमति 4 की ही थी। उनके बारे में संकेत उपर के लिंक और वहाँ की टिप्पणियों में हैं। अब आप लोग क, ख, ग,घ, ङ की पहचान कीजिए।
पुरस्कार: प्रथम 3 विजेताओं को 'आलसी' के साथ चैट का मौका मिलेगा -पूरी रात। पाँच प्रश्नों में से कोई चार  के उत्तर देने अनिवार्य हैं .....
++++++++++++++++++++++++++++++
भाग गिरिजेश  . . . .   पब्लिक पीटने आ रही है।....  

14 टिप्‍पणियां:

  1. इ तो ऐसा लाल बुझक्क्ड़ बुझा दिया कि पल्ले ही नहीं पड़ रहा जवाब तो दूर की बात है भाई !

    उत्तर देंहटाएं
  2. पहचान सबको गया हूँ मगर ज़माना इतना खराब है इसलिए नाम किसी का नहीं लूंगा. अलबत्ता इनाम में अगर भारी रोकड़ रखा हो तो मंच पर आकर हंसते हुए ले लूंगा. वैसे आपके लिए अपनी एक ख़ास कहानी को पुरानी अलमारी से निकालकर धुल झाड़कर साफ़ किया है, ज़रा यहाँ मुलाहिजा फरमाएं: वह कौन था. आपके नखलऊ का भी ज़िक्र है इसमें. टिप्पणी चाहे न छोडें मगर पढें ज़रूर.

    उत्तर देंहटाएं
  3. अस मानो कि समार्ट इंडियन..नाम लिए तो भुगते न लेवें तो भुगते...उन्हिन के साथ आवूँगा अगर भारी रोकड़ रहा तो. :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. @डाक्साब
    ,
    मुझे इसी का डर था - 'हिस्टीरिया' का नहीं, ऐसी टिप्पणी का।
    लै लो मौज भैया! कउनो बात नहीं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. कुछ अनुमान हम भी लगा ही चुके हैं । धारा की उठान, बलखाती पहचान कुछ तो समझ ही गये हैं हम !

    बाकी हैं तो अभी बच्चे ही !

    उत्तर देंहटाएं
  6. चैटिंग में भी पहेली .. बूझने के लिए पहले सबसे चैटिंग करनी होगी !!

    उत्तर देंहटाएं
  7. अपने तो कुछ पल्ले ही नहीं पडा। शायद किसी से चैट फैट न करने का नतीजा है ये।
    ----------
    डिस्कस लगाएं, सुरक्षित कमेंट पाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  8. क. ....
    ख. ओझवाजी. वही लखनऊ वाले.
    ग. शुकुल जी महाराज.
    घ. जब ये पढाया जा रहा था तब मैं क्लास में ही था तो इसका उत्तर नहीं दे रहा. :)
    ङ. मास्साब, हिमांशु दा?

    उत्तर देंहटाएं
  9. जब घ. ने ख. को पहचान लिया है तो ख.=घ. यानी ओझा=ओझा. हैट वाले का गणित कुछ ऐसा ही है. इस आईडी को लेकर सिर मत खुजाइए. रही इनाम की बात तो जिससे सबसे ज्यादा खुन्नस हो उसे जगाइए रात भर वही सुने आपकी कव्वाली.

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत ही सुंदर --इस खुलेपन की जितनी भी तारीफ़ करें कम है, दोस्त।

    dher sari subh kamnaye
    happy diwali

    from sanjay bhaskar
    haryana
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  11. zindagi ki chhoti -chhoti aur mithi yaado ko sundarata se prastut karane ki kala aap me hi hai .
    बहुत ही सुंदर --इस खुलेपन की जितनी भी तारीफ़ करें कम है, दोस्त।

    dher sari subh kamnaye
    happy diwali

    from sanjay bhaskar
    haryana
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं

कृपया विषय से सम्बन्धित टिप्पणी करें और सभ्याचरण बनाये रखें।
साइट प्रचार के उद्देश्य से की गयी या व्यापार सम्बन्धित सामग्री वाली टिप्पणियाँ स्वत: स्पैम में चली जाती हैं, जिनका उद्धार सम्भव नहीं क्यों कि उनसे दूसरी समस्यायें भी जन्म लेती हैं। अग्रिम धन्यवाद।